Breakup Shayari

Dhoka Shayari Hindi || Dhoka Shayari in Hindi

Dhoka Shayari Hindi
Written by admin

Dhoka Shayari Hindi || Dhoka Shayari in Hindi – दोस्तो आज हम सभी के लिए Dhoka Shayari Hindi || Dhoka Shayari in Hindi लेकर  आये हैं दोस्तो आज का दौर हैं की प्यार तो सब को चाहिए पर कुछ ही समय  लिए life time के  लिए आपसे कोई  प्यार   नही करता  हैं

Dhoka Shayari Hindi

जिससे आप अपने दिलो जान से प्यार करते हैं वो ही अक्सर आप को छोड़ के चला जाता हैं जिससे आप अच्छे प्यार की उम्मीद करते हैं वही आपको धोखा देते हैं || धोखा देने से पहेले ये नही सोचते हैं की वो इंसान आप के बिना कैसे रहेगा ||

आप जिनसे सच्ची मोहब्बत करते हैं अक्सर वो इंसान आप के मोहब्बत की कदर नही करता करता हैं

 

Dhoka Shayari Hindi

Time Pass
कितना मस्त शब्द है ना वैसे
एक को ख़ुशी मिलती है
दूसरे को बुरा लगता है
अंत में एक दूसरे को खोकर दोनों रोते हैं।

 

मोहब्बत सीखा कर जुड़ा हो गए
न सोचा न समझा खफा हो गए
दुनिया में किसको हम अपना कहे
अगर तुम बेवफा हो गए।

 

तेरी बेवफाई का किस्सा जब-जब
याद आएगा, मेरे तन बदन में एक
आग सी भड़कायेगा, जो तूने किया
कोई दुश्मन भी नहीं ऐसा करता
देख लेना एक दिन तू भी बोहत
पछतायेगा।

 

वो मुझसे ज्यादा चाहेगा इसे कुछ
दिनों में ये भरम टूट जायेगा ,
मैं ज़रूर याद आऊंगा उस बेवफा
को जब उसका साथ बेवजह उस
से रूठ जायेगा।

 

इंसान सब कुछ भूल जाता है
सिवाए उन लम्हों के जब उसे अपनों
की ज़रूरत थी और वो साथ नहीं थे।

 

रिश्ते टूट कर चूर चूर हो गए
धीरे धीरे वो हमेसा दूर हो गए
हमारी ख़ामोशी हमारे लिए गुन्हा बन
गयी और वो गुन्हा कर बेकसूर हो गए।

 

बदनामी के दर से मैं रो भी नहीं पा रहा ,
तेरी याद के साये में मैं सो भी नहीं पा रहा।
सोचा के तुझे भूल कर और किसी को
याद करू,पर लाख कोशिशों के बावजूद
मैं किसी और के ख्यालो में खो भी न
हीं पा रहा।

 

धोखा शायरी 2020
ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है
साथ कभी कभी कुछ मज़बूरियों मोहब्बत
से भी ज्यादा गहरी है।

 

उनकी कमी से दिल मेरा उदास है,
पर मुझे तो आज भी उनके मिलने
की आस है,ज़ख़्म नही पर दर्द का
एहसास है,ऐसा लगता है दिल का
एक टुकड़ा आज भी उनके पास है.

 

ज़िन्दगी में एक पल भी सुकून न पाया
दुनिया की इस भीड़ में खुद को तनहा न पाया
तेरे दिए ज़ख्मो को प्यार समझते रहे
तेरे धोके में आके किसी से दिल न लगाया।

 

सारा दिन गुज़र जाता है खुद को समेटने में
फिर रत को उसकी याद की हवा चलती है
और हम फिर बिखर जाते हैं।

 

हम कितने बेवफा हैं
एक दम उनके दिल से
निकल गए उनमे कितनी वफ़ा थी
आज तक हमारे दिल से नहीं निकले।

 

ख़त्म कर दी थी ,जिन्दगी की हर
खुशियाँ_तुम_पर कभी फुरसत
मिले तो ,सोचना की मोहब्बत_
किसने_की_थी

 

ना जाने कितने दर्द है जो सब्र बन कर
नहीं कब्र बन कर उभर रहे है ज़िन्दगी में।

 

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते,
बिन कहे भी जी नहीं सकते, ऐ खुदा! ऐसी
तकदीर बना,कि वो खुद हम से आकर
कहे कि, हम आपके बिना जी नही सकते.

 

सब कुछ मिला बस खुदाई क सिवा
ज़िन्दगी बहुत पसंद आयी रुस्वाई
क सिवा मेरी चाहत एहसास भी
ना होगा उसकी हर अदा पसंद
आयी बेवफाई के सिवा।

 

तुम साथ रहने का झूठा एहसास मत
दो हमें लोग हमारे बिच में रह कर भी
मुलाकात नहीं करते हैं।

 

सुना है वो जाते हुए कह गये,
के अब तो हम सिर्फ़ तुम्हारे
ख्वाबो मे आएँगे,कोई कह दे
उनसे के वो वादा कर ले,हम
जिंदगी भर के लिए सो जाएँगे.

 

बेवफ़ाओं की महफ़िल लगेगी ,
आज ज़रा वक़्त पर आना मेहमान-ए-ख़ास हो तुम.

 

दिल तो हमारा वो आज भी बहला
देते हैं फर्क है तो सिर्फ इतना पहले
हँसा देते थे अब रुला देते हैं।

 

जिन जख्मो से खून नहीं निकलता
समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने
ने ही दिया है।

 

बे-फिजूली की जिंदगी का सिल-सिला ख़त्म,
जिस तरह की दुनिया उस तरह के हम।

 

तेरी दोस्ती ने दिया सकूँ इतना की तेरे
बाद कोई भी अच्छा न लगे तुझे करनी
हो बेवफाई तो इस अदा से करना की
तेरे बाद कोई भी बेवफा न लगे।

 

रोते हुए को हसाने की क्या सजा पा गया,
मेरी जिंदगी की खुशी उसको मिली,
और उसकी जिंदगी का हर गम,
मेरे हिस्से आ गया..

 

आज तड़पा है मेरा दिल जो कभी धड़का था
आज फिर याद तेरी मुझको पुरानी आयी
संग जीने का जो वादा था तेरा “लिंकन” से
आज हर बात तेरी मुझको जुबानी आयी..

 

शुक्र है खुदा का,
जिसने रंगीन नहीं रखे आंसू ,
वरना रात में भीग जाने वाले तकिये
हमारे राज बया कर देते.

 

एक तरफ़ा ही सही पर प्यार मेरा सच्चा है,
ये भी एक राज है राज रहे तो अच्छा है।

 

किसी इंसान के लिए इतना भी नहीं
रोना चाहिये, कि तुम खुद को ही
खुश रखना भूल जाओ !!..

 

कई किरदार निभाए है
इस छोटी सी जिंदगी में
लेकिन दुःखी होकर भी
खुश दिखाना सबसे मुश्किल था.

 

यूं तो यकीनन है मौत जिंदगी का
अन्जाम और मरने के है कई रास्ते
मरकर भी जिंदा है वो लोग
जो मर गए मुहब्बत के वास्ते..

 

ज़ख्म भर जाएंगे, तुम मिलो तो सही
दिन सँवर जाएंगे, तुम मिलो तो सही
रास्ते में खड़े दो अधूरे सपन
एक घर जाएंगे, तुम मिलो तो सही..

 

सुबह ही रात हो गयी जाने क्या बात
हो गयी, क्यों रूठ गए अचानक मुझसे
क्या फिर किसी से मुलाकात हो गयी..

Dhoka Shayari Hindi for gf

 

उसने कहा करोगे क्या खता एं मोहब्बत
मुझसे हमने कहा गर होती यू मोहब्बत
आजमाइशो से जरूर करते तुमसे..

 

मुस्कुराहट का सबब बेवजह तो नहीं,
ज़रूर मेरा चेहरा ख्यालों में आया होगा..!!

 

गलती उसके यार की नही जो उसके साथ है
अभी। गलती तो उसकी है जिसने बाबु मुझे
कहा और,थाना किसी और को खिला रही है..

 

दिल तोड़ने वाले सुन मुझे तुझसे कोई
सिकायत नहीं। शिकायत तो मुझे ऊपर
वाले जिन्होंने दिल बनाया है।

 

कीसी का साथ होना भी
कभी कभी साथ नही लगता.
अजीब है ना हाथ मे सब कुछ है
मगर हाथ कुछ नही लगता.

 

जलजला तूफ़ान कहुँ
इंसान का गुमान कहुँ
मिट गया वज़ूद जिससे
उसे इन्सान का ज्ञान कहुँ..

 

जिस्मानी चाहतों के इस दौर में
तुझसे ऐसी मोहब्बत करनी है, कि
तुझे छूने से पहले,तेरी मांग भरनी है।

 

अंधेरों में खोकर भी अपनाया हैं तुझे,
कुछ अज़ीब सी मोहब्ब़त हैं मेरी जिसमें
बेशुमार से भी ज्यादा इश्क़ फ़रमाया हैं तुझे..

 

उम्मीद क्या होती है पूछो उस इंसान से
जो बैठा है आज भी किसी के इंतजार में..

 

जिसे तुम कभी पा नही सकते,
उसे तुम कभी खो भी नही सकते,
तो मेरी जान,सोचो तुम मेरे दिलमे
कितने सुरक्षित हो।

 

तुझको भी जब अपनी कसमें…
अपने वादे याद नहीं हम भी तेरे
ख्वाब अपनी आँखों में रख कर भूल गए.

 

दिल को टुटते देखा हैं मैने
सारी दुनिया को रोता देखा हैं मैने
जो करता हैं दिल से प्यार किसीको
उसे भी रुठता देखा हैं मैने.

 

हमे पता हे तुम कही ओर के मुसाफीर हो
हमारा शहर तो बस यूँ ही रास्ते मे आया था।

 

उसे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था,
भूल गए थे के किस्मत बदलते देर नहीं लगती..

 

कभी कभी इतेफाक से भी मुलाकात हो जाती है
जब किसी की याद दिल से हो कर आती है

 

क्या कहूँ किन हालातों से गुज़रा हूँ,
खुद को बदलने के लिए,
मग़र जब ये हालात बदले,
तो वो वक्त भी गुज़रता चला गया,

 

बेशक अपनी मंज़िल तक जाना है,
पर जहाँ से अपना दोस्त ना दिखे
वो ऊंचाई किस काम की..

 

मतलबी दुनिया मे सम्भल के चलना,
यहाँ तो लोग हाथों से दफ़ना कर
भूल जाते हैं, कि कब्र कौन सी थी..

 

कुछ मोहब्बत का नसा था पहले हमको,
दिल जो टुटा तो नसे से मोहब्बत हो गयी..

 

नफ़रत करनी है मुझसे,तो मोहब्बत के
इरादे से आना क्योंकि नफरत के इरादे
लेकर आए तो मोहब्बत ही होगी हमसे..

 

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी,
लोगो को सिखा देगें मोहब्बत ऐसे भी होती है।

 

कुछ इस तरह फ़कीर नें जिन्दगी की
मिसाल दी,मुठ्ठी में धूल ली और हवा
में उछाल दी।

 

नही रहता कोई शख़्स अधूरा किसी
के भी बिना, वक़्त गुज़र ही जाता है,
कुछ खोकर भी कुछ पाकर भी।

 

अब मत खोलना मेरी जिंदगी की पुरानी
किताबों को, जो था वो मैं रहा नहीं जो हूँ
वो किसी को पता नहीं।

 

याद आयेगी हर रोज मगर तुझे आवाज न दूंगा
लिखूंगा तेरे ही लिये हर लब्ज़ मगर तेरा नाम
न लूंगा.

 

थोड़ा बचा हूँ, बाकि हिसाब हो चुका है,
बहुत कुछ है, जो मुझमें राख़ हो चुका है।

 

ढूँढ़ने चले थे एक शख्स की मोहब्बत,
खुद को ही खो दिया उसकी चाहत में।

 

वो पूछ बैठे हमसे रहने की कोई
बेहतरीन जगह हमने एक नज़र
देखा उन्हें और कहा अपनी औकात में .

 

इश्क की नासमझी में.
हम अपना सबकुछ गँवा बैठे,
उन्हें खिलौने की जरूरत थी
और हम अपना दिल थमा बैठे।.

 

आपके कहने पे मैंने रात लौटा दी,
आप भी मेरे हँसी कुछ ख्वाब लौटा दो।

 

मुश्कुराने पे सुरु हो और रुलाने पे
खत्म हो जाये, ये वही जुल्म है जिसे
लोग महोब्बत कहते है।

 

न जाने किसने चलाया ये तोहफे
देने का रिवाज़, गरीब आदमी
मिलने-जुलने से डरता है साहब।

 

कहते हैँ प्यार की शुरूआत आँखों से होती है,
पर यकीन मानों दोस्तों प्यार की कीमत भी
आँखों को चुकानी पड़ती है.

 

जिंदगी में प्यार क्या होता है
वो उस शख्स से पूछो,जिसने
दिल टूटने के बाद भी इंतजार
किया हो !!

 

विश्वास में धोखा देने वाली शायरी
क्या पता तुम कब भूल जाओ ये
मोहब्बत, जिसे मै जिंदगी और
तुम एक लफ्ज़ कहते हो।

 

अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी
ये जो मुस्कराहट का लिबास पहना है
मैंने,दरअसल खामोशियों को रफ़ू
करवाया है !!

Dhoka Shayari Hindi 2021

दोस्तो यहा आप सभी को दर्द भरी शायरी मिल जाएगी latest dhoka shayari hindi जोकि आप के दिल को छु जाने वाली शायरीया हैं साथ ही साथ dhoka shayari hindi for gf ओर dhoka shayari hindi for bf के लिए  भी मिल जाएगी ।

 

आपकी आँखे अक्सर वही लोग खोलते है-
जिनपर आप आँखे बंद करके विश्वाश करते है

 

पल पल उसका साथ निभाते हम
एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम
समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने
वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

 

टुटा हो दिल तो दुःख होता है
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है
दर्द का अहसास तो तब हो
और उसके दिल में कोई और होता है

 

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक,
हर काँच के टुकड़े को हीरा नहीं कहते

 

जानता था की वो धोखा देगी एक दिन पर चुप रहा क्यूंकि
उसके धोखे में जी सकता हूँ पर उसके बिना नहीं

 

धोखा भी बादाम की तरह है
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है

 

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग

 

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा,
मै जल रहा हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती

 

धोखा दिया था जब तूने मुझे.
जिंदगी से मैं नाराज था,
सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं.
मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था

 

कुछ लोग इतने गरीब होते है की,
देने के लिए कुछ नहीं होता तो धोखा दे देते है
विश्वास तो अपनों पर ही किया जाता है,
अब जाना ज़ख्म भी उन्हीं से मिलता है। ????????

 

अगर तुम मुझसे पूछते हो कि प्यार क्या होता है,
तो बस इतना कहूँगा पल पल मरना है तो प्यार कर लेना। ????????

 

ले लो वापस दिखाए थे झूठे सपने जो तुमने मुझको,
शायद इसकी जरुरत पड़े अगले शिकार में तुझको। ????????

 

छोड़ दिया है तुमने बोलकर झूठा प्यार मुझे,
देखता हूँ मैं भी कहाँ मिलेगा सच्चा प्यार तुझे। ????????

 

नाराज़गी का नाटक करने का तुम्हे मुझसे क्या जरुरत है,
हिम्मत है तो ऐसा बोलो कि अब तेरी मुझे नहीं जरुरत है। ????????

 

तेरे इस झूठे मोहब्बत के फ़साने में ऐसा खो गया मैं,
की तुझे पाने के लिए दुनिया तो छोड़ो खुद को भी भूल गया मैं। ????????

 

जाते जाते धोकेबाज़ मेरे दिल की वफादारी भी क्यों ले गयी,
है तो ये मेरे सीने में पर ये तेरे लिए रोता है। ????????

 

वजह नहीं मिल रही थी मुझे छोड़ने की तो,
मुझ पर ही बेवफाई का दाग लगा दिया।

 

साथ जीने मरने का वादा था.
मर के भी साथ न छोड़ने का वादा था.
सारी बातों से तू मुखर क्यूँ गयी.
ए सनम तू मुझे धोका दे कर चली गयी.

 

चलो धोका ही था तुम्हारा इश्क.
सब झूठ था, तो झूठ अपनी जुबा को कहने देते.
मै खुश था, मुझे धोखे में ही रहने देते.

 

साथ रहना था ही नहीं तो
तुमने हमसे नाता क्यों जोड़ा.
हमे धोका देकर तुमने
हमे कही का नहीं छोड़ा.

 

धोका खा कर भी हम जिन्दा है.
तेरे दर्द के साथ भी हम जिन्दा है.

 

धोका तूने ऐसा दिया.
मेरी जिंदगी का हर मकसद
मुझसे छीन लिया.

 

दिल के दर्द को दिखाना बड़ा मुश्किल है.
धोका खा कर बताना बड़ा मुश्किल है.

 

न तुमको कोई ऐसा मौका देते की तुम धोका देते.
अच्छा होता बेडियो से बाँध कर
अपने गिरफ्त में रखते.

Latest Shayari पाने के लिए हमारे Facebook page को like करे. अगर आपको Dhoka Shayari Hindi || Dhoka Shayari in Hindi पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. और हमें comment box में comment करके

About the author

admin

Leave a Comment