Breakup Shayari

Bewafa Shayari in Hindi || Dard bhari shayari

Bewafa Shayari in Hindi
Written by admin

Bewafa Shayari in Hindi:- दोस्तों आज हम आप के लिए ऐसी Bewafa Shayari in Hindi में ले  कर आये हैं || इन शायरियो को पढ़ के,  आपको आपने पहेले प्यार की याद दिला देगा  || ये sad shayari ऐसी हैं जोकि आपके दिल के दर्द को और बढ़ा देगा और पुरानी यादो को ताजा कर देगा ||

दोस्तों अक्सर relationship में ऐसे छोटे मोटे लड़ाई, झगडे होते रहते हैं || इन छोटे छोटे झगड़ो की वजह से आप को दुःख होता हैं || और कई बार तो ऐसे झगड़ो की वजह से दिल भी टूट जाता हैं ||

जिसकी वजह से आप एक दुसरे से दूर होने लगते हैं और अपनी दर्द  को शायरी के द्वारा अपने partner को अहसस कराते हैं||

दोस्तो bewafa shayari 2021 का best collection आप सभी के लिए update कर रहे हैं आप इसको जरूर   पढे 

 

Bewafa Shayari in hindi 2021

 

Bewafa Shayari in Hindi

Bewafa Shayari in Hindi

 

Bewafa Shayari in Hindi

Bewafa Shayari in Hindi

 

मेरी राहों से ज़ुदा हो गईं राहें उनकी
आज बदली नज़र आती हैं निगाहें उनकी
जिनसे इस दिल ने सहारों की तमन्ना की थी

 

मेरी राहों से ज़ुदा हो गईं राहें उनकी
आज बदली नज़र आती हैं निगाहें उनकी
जिनसे इस दिल ने सहारों की तमन्ना की थी

 

बड़ी हिम्मत दी है उसकी जुदाई ने,
ना ही किसी को खोने का डर है,
आज ना ही किसी को पाने की चाह है

 

जख्म देने की आदत नहीं हमको,
हम तो आज भी वो एहसास रखते हैं,
बदले-बदले तो आप हैं जनाब,
हमारे अलावा सभी को याद रखते हैं।

 

जिसको आज मुझमे हजारो गलतिया नजर आती हैं
कभी उसी ने कहा था तुम जैसे भी हो मेरे हो

 

कमाल की मोहब्बत थी मुझसे उसको अचानक
ही शुरू हुई और बिना बताये ही ख़त्म हो गई

 

किसी का दिल इतना भी मत दुखाओ कि…
वो खुदा के सामने तुम्हारा नाम लेकर रो पड़े”

 

हालात कह रहे है अब वो याद नही करेंगे
ओर उम्मीद कह रही है थोड़ा और इंतजार कर।

 

“नाराजगी चाहे कितनी भी क्यों ना हो,
पर तुझे छोड़ देने का ख्याल हम आज भी नहीं रखते”

 

“मुझे तुझ से नही नही तेरे अंदर बैठे रब से मोहब्बत है,
तुम तो बस एक ज़रिया हो मेरे इबादत का”

 

“जिंदगी में अक्सर कुछ लोग ऐसे भी मिल जाते हैं,
जिनको सिर्फ चाहा जा सकता है पाया नही..
क्यूँ के वो किसी ओर की किस्मत में होते है।”

 

“बुरा तो तब लगता है, जब हम एक ही इंसान से,
बात करना चाहते हो और वो हमे इग्नोर करता है।”

 

“कौन कहता है कि सिर्फ नफरतों मे ही दर्द होता है,
कभी कभी बेंपनाह मुहब्बत भी बहुत दर्द देती है।”

 

“दिल टूटा है संभलने मे कुछ, वक़्त तो लगेगा साहब,
हर चीज इश्क़ तो नहीं, की एक पल में हो जाए।”

 

“अजीब सी थी वो, मुझे बदल कर खुद बदल गई”

 

“प्यार किया तुझको दिलोजान से,
इस दिल में तुमको इस कदर बसा लिया,
भुला ना पाया है ये दिल तुझको आज तक,
लेकिन तुमने तो इसे दुख के आंसू रुला दिया।”

 

“अब मेरे हाल चाल नहीं पूछते हो तो क्या हुआ
कल एक एक से पूछोगे की उसे हुआ क्या था”

 

“हमें देख कर जब उसने मुँह मोड़ लिया,
एक तसल्ली हो गयी चलो पहचानते तो हैं।”

 

“मेरी कोशिश हमेशा से ही नाकाम रही
पहले तुझे पाने की अब तुझे भुलाने की।”

 

“झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,
सब कुछ भुला के उनका इंतज़ार किया,
वो जान ही न पाई जजबात मेरे,
जिसे दुनियाँ में मैंने सबसे ज्यादा प्यार किया.”

 

“मैं क्यों पुकारू उन्हें की लौट आओ
क्या उन्हें खबर नही है के
उनके सिवा कोई नही है मेरा।”

 

“जितना बदल सकते थे बदल लिया खुद को..!
अब जिसको शिकायत हो वो अपना रास्ता बदल ले

 

“अब तो हर रोज आपसे मिलने को जी करता है
कुछ सुनने और सुनाने को जी करता है और
आपके मनाने का अंदाज कुछ ऐसा है की
एक बार फिर से रूठ जाने को जी करता है”

 

“निकाल दिया उसने अपनी ज़िन्दगी से भीगे कागज की तरह,
ना लिखने के काबिल छोडा ना जलाने के”

 

“कितने अजीब है जमाने के लोग खिलौना छोड़ कर जज्बातों से खेलते है।”

 

“ये जो तुम्हारी याद है ना बस, यही एक मेरी जायदाद है…!!!”

 

“दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया”

 

“किसकी पनाह म तुझे गुजारे ए ज़िन्दगी,
अब तो रास्तों ने भी कह दिया है, घर क्यों नहीं जाते।”

 

“ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है
साथ कभी कभी,
कुछ मजबूरियां मुहब्बत से
भी ज्यादा गहरी होती है।”

Bewafa Shayari

 

रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं
प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं
इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने
अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं

 

आदत नई हमे पीठ पीछे वार करने की
दो शब्द काम बोलते है पर सामने बोलते है

 

उम्र छोटी है तो क्या, ज़िंदगी का हरेक मंज़र देखा है
फरेबी मुस्कुराहटें देखी हैं, बगल में खंजर देखा

 

कल क्या खूब इश्क़ से मैने बदला लिया
कागज़ पर लिखा इश्क़ और उसे ज़ला दिया

 

जिंदगी की हक़ीकत सिर्फ इतनी होती है
जब जागता है इंसान तो किस्मत सोती है
इंसान जिस पर अपना हक़ खुद से ज्यादा समझता है
वो अमानत अक्सर किसी और की होती है

 

लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है

 

क़दर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है

 

ये मत पूछ के एहसास की शिद्दत क्या थी
धूप ऐसी थी के साए को भी जलते देखा

 

बस तेरी यादों से ही है तारीफ मेरी
वर्ना ये सारा जहान तो मुझे अजनबी सा लगता है

 

प्यार में सबसे बड़ा खुशनसीब वह, जो झुक जाए
और सबसे बड़ा बदनसीब वह जो अकड़ जाए

 

इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा
यादें कटती हैं ले-ले कर नाम तेरा
मुद्दत से बैठे हैं ये आस पाले कि
आज आयेगा कोई पैगाम तेरा

 

तेरे पास भी कम नहीं, मेरे पास भी बहुत हैं
ये परेशानियाँ आजकल फुरसत में बहुत हैं

 

अब जो मेरे न हो सको तो कुछ ऐसा कर देना
मैं जैसा पहले था मुझे फिर से वैसा कर देना

 

हीरों की बस्ती में हमने कांच ही कांच बटोरे हैं
कितने लिखे फ़साने फिर भी सारे कागज़ कोरे है

 

तुम लाख छुपाओ सीने में एहसास हमारी चाहत का
दिल जब भी तुम्हारा धड़का है आवाज यहां तक आई है

 

तू ज़ुल्म कहॉं तक ढायेगा देखें किस हद तक जायेगा
हॉं झूठ फ़ना होगा इक दिन और सच का अलम लहरायेगा

 

जिन्दगी की दौड़ में तजुर्बा कच्चा ही रह गया
हम सीख न पाये ‘फरेब’ और दिल बच्चा ही रह गया

 

मुस्करा कर देखो तो सारा जहा रंगीन है
वर्ना भीगी पलको से तो आईना भी धुधंला नजर आता है

 

उदासी, शाम, तन्हाई, यादे, बेचैनी
मुझे सब सौंपकर सुरज उतर जाता है पानी मे

 

सौ दर्द हैं महोब्बत में बस एक राहत हो तुम
नफ़रतें बहुत हैं जहाँ में बस एक चाहत हो तुम

 

एक तेरा नाम लेते ही
मेरे चेहरें पर मुस्कान आ जाती है
मै कितनी ही मुश्किल में क्यों ना हूं
मेरी जान में जान आ जाती है

 

वक़्त के मोड़ पे ये कैसा वक़्त आया है
ज़ख़्म दिल का ज़ुबाँ पर आया है
न रोते थे कभी काँटों की चुभन से
आज न जाने क्यों फूलों की खुशबू से रोना आया है

 

शीशे में डूब कर पीते रहे उस जाम को;
कोशिशें की बहुत मगर भुला न पाए तेरे एक नाम को

 

हमारी कद्र उनको होगी तन्हाईयो में एक दिन,
अभी तो बहुत लोग हैं उनके पास दिल्लगी करने को.

 

Latest Bewafa Shayari in Hindi

 

 

आपकी आँखे अक्सर वही लोग खोलते है-
जिनपर आप आँखे बंद करके विश्वाश करते है

 

पल पल उसका साथ निभाते हम
एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम
समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने
वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

 

टुटा हो दिल तो दुःख होता है
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है
दर्द का अहसास तो तब हो
और उसके दिल में कोई और होता है

 

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक,
हर काँच के टुकड़े को हीरा नहीं कहते

 

जानता था की वो धोखा देगी एक दिन पर चुप रहा
क्यूंकि उसके धोखे में जी सकता हूँ पर उसके बिना नहीं

 

धोखा भी बादाम की तरह है
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है

 

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग

 

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा,
मै जल रहा हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती

 

धोखा दिया था जब तूने मुझे.
जिंदगी से मैं नाराज था,

 

सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं.
मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था

 

कुछ लोग इतने गरीब होते है की,
देने के लिए कुछ नहीं होता तो धोखा दे देते है

 

खूब देखे होंगे आंसू ख़ुशी की तुमने
कभी मिलो हमसे , तुम्हे गम के हसी दिखाएंगे

 

जब धोखा ही था तुम्हारी मोहब्बत.
तो झूठ अपनी लबो को कहने देते.
और जब मै सुखी था, मुझे अपने बिना ही रहने देते

 

माना मेरा प्यार एकतरफा था
गुनाह भी मेरा था इसलिए दर्द भी मुझे मिला
पर बस इतना दे ए खुदा
जब वो पहले ही किसी और के थे
तो मुझे प्यार होना, क्यों जरुरी था

 

कितने मकसदो के साथ जी रहे थे हम
उस बेवफा ने धोखा क्या दिया
मेरी Life का हर मकसद
हमसे छीन लिया
सनम बेवफा

 

कोई दिक्कत नहीं है ignore करो
पर याद रखना टाइम सबका आता है

 

मैं मतलबी नहीं जो तुम्हे धोखा दे दू
बस इतना समझ लेना मैं तुम्हे समझ नहीं पाया

 

तू कभी मुझे मिले या न मिले
बस इतनी से दुआ है मेरी
तू जिसे भी मिले
तुझे उससे जिंदगी की हर ख़ुशी मिले

 

ज़िन्दगी में हमें दुख दिल टूटने पर
उतना नहीं होता जितना
विश्वास टूटने पर होता है,
क्योंकि हम किसी पर
विश्वास करके ही अपना दिल उन्हें देते हैं

 

कुछ लोग हमें ऐसे मिले
जो हमें अपना बना गए
और कुछ दोस्त ऐसे मिले
जो हमें पराया का मतलब बता गए।

 

तेरे लिए लड़ लिए इस दुनिया से ,
लेकिन हम हार गये
अपने इस बदनसीब किस्मत से।

 

हर हीरा चमकदार नहीं होता,
हर समंदर गहरा नहीं होता…
दोस्तो जरा संभल कर प्यार करना,
हर खूबसूरत चेहरा वफादार नहीं होता…

 

मेरी बर्बादी का इल्जाम ना आता तुझ पर जाना
उस शाम गली में गर मैं तुझसे ना टकराया होता
जख्म मिलते तुझे भी अगर इश्क़ में मेरी ही तरह
अश्क़-ए-लहू कुछ तेरी आँखों ने भी बहाया होता।

 

बहुत तलाश किया पर कहीं गुम हो गए वो…
ढूंढने की कोशिश की पर नहीं मिले वो,
मेने तो वफ़ाई की लेकिन.. उसके प्यार में शायद खोट था…
इसलिए तो किसी और के बाहों में खो गए वो।

 

और कोई तकलीफ दे
तो गुस्सा आता है पर,
जब कोई अपना तकलीफ दे
तो रोना आता है।????

 

इरादा तो नहीं था किसी के
दिल को दुखाने का,
मोहब्ब्त तो सच्ची कि मगर
हालात के आगे मजबूर हो गए…
खैर अब ज़रिया किसे बनाएं इश्क में मिले
दर्द को छुपाने का।

 

प्यार में धोखा तब तब खायेंगे लोग,
प्यार जब जब दिल की जगह जिस्म से करेंगे लोग।

 

तुने भी वही किया जो सब करते हैं,
पास आया..
सपना दिखाया..
अपना बनाया..
और फिर बिना कसुर बीच रास्ते में ही छोड़ गए ।

 

तुम खास थे इसलिए लड़े तुमसे,
पराये होते तो मुस्कुरा कर जाने देते।

 

एक गलती की थी मैंने, आज उसी की सजा पाई थी,
उसके यार ने ही सही, उसकी असलियत बताई थी,
वो दिखती है अब किसी ओर के साथ,
ये बात तुमसे नहीं, गैरों ने मुझे बताई थी !!

 

ऐ खुदा तू ईश्क ना करना, वरना बड़ा पछताएगा।
हम तो मर के तेरे पास आ जाते हैं,तू कहां जाएगा।

 

किसी ने मुझे ये सिखा दिया कि,
हद से ज्याद किसी को चाहना बुरी बात है ।

 

जीते जी मौत से रूबरू होना है
तो किसी बेवफा से मोहब्बत कर लो

 

इश्क किया था, अब चीखें भी गाएंगे,
तेरी बेवफाई का जिक्र ना उठे,
हम आँसू लेकर शहर मे मुस्कुराएंगे,

 

दिवारों के पीछे क्या किरदार हूँ मै?
यह राज़ मेरे आंगन तक को नहीं पता है,
तुम बस इतना समझ लो इश्क मे बरबाद हो गया,
उसका नाम क्या था यह किसी और दिन बताएंगे,

 

कोई था क्या नशा तेरी आँखों के बराबर?
कोई होगा क्या नशा तेरे जाने के बाद?
सब ठीक तो था, बेवफाई करनी क्या जरुरी थी?
छोडिए अब उनका जिक्र, हम फिर कोई मयखाना पी जाएंगे ।।

 

साथ जीने मरने का वादा था.
मर के भी साथ न छोड़ने का वादा था.
सारी बातों से तू मुखर क्यूँ गयी.
ए सनम तू मुझे धोका दे कर चली गयी.

 

चलो धोका ही था तुम्हारा इश्क.
सब झूठ था, तो झूठ अपनी जुबा को कहने देते.
मै खुश था, मुझे धोखे में ही रहने देते.

 

साथ रहना था ही नहीं तो
तुमने हमसे नाता क्यों जोड़ा.
हमे धोका देकर तुमने
हमे कही का नहीं छोड़ा.

 

धोका खा कर भी हम जिन्दा है.
तेरे दर्द के साथ भी हम जिन्दा है.

 

धोका तूने ऐसा दिया.
मेरी जिंदगी का हर मकसद
मुझसे छीन लिया.

 

दिल के दर्द को दिखाना बड़ा मुश्किल है.
धोका खा कर बताना बड़ा मुश्किल है.

 

न तुमको कोई ऐसा मौका देते की तुम धोका देते.
अच्छा होता बेडियो से बाँध कर
अपने गिरफ्त में रखते.

 

कैसे बयां करू अलफ़ाज़ नहीं है
दर्द का तुझे मेरे अहसास नहीं है
पूछते हो मुझसे क्या दर्द है
मुझे दर्द ये है की तू मेरे पास नहीं है

 

तेरी दोस्ती ने दिया शकुन इतना की तेरे
बाद कोई अच्छा भी न लगे
तुझे करनी है बेवफाई तो इस क़दर करना
की तेरे बाद कोई बेवफा भी न लगे

 

दर्द इतना था ज़िंदगी में कि धड़कन साथ देने से घबरा गयी!
आंखें बंद थी किसी कि याद में और मौत धोखा खा गयी!

 

धोखा मिला जब प्यार में ज़िन्दगी में
उदासी छा गई,
सोचा था छोड़ देंगे इस राह को
कम्बख़त मोहल्ले में दूसरी आ गई

 

Bewafa Shayari in Hindi

 

वो छोड़ के गए हमें,न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं,ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी..

 

आदतन तुम ने कर दिए वादे
आदतन हम ने ऐतबार किया
तेरी राहो में बारहा रुक कर
हम ने अपना ही इंतज़ार किया
अब ना मांगेंगे जिंदगी या रब
ये गुनाह हम ने एक बार किया

 

भरोसा जितना कीमती होता है
धोखा उतना ही महँगा हो जाता है।

 

तुमने समझा ही नहीं और ना समझना चाहा,
हम चाहते ही क्या थे तुमसे “तुम्हारे सिवा”

 

सुकून की तलाश में हम दिल बेचने निकले थे
खरीददार दर्द भी दे गया और दिल भी ले गया|

 

ठीक है बदल जाओ तुम, लेकिन ये याद रखना की
हम बदल गए तो तुम करवटे बदलते रह जाओगे.

 

मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,
किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।

 

खुदा ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,
दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी।

 

जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे,
जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।

 

मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।

 

बंद कर देना खुली आँखों को मेरी आ के तुम,
अक्स तेरा देख कर कह दे न कोई बेवफा।

 

Bewafa Shayari in Hindi 2021

दोस्तों अक्सर दिल टूटने के  बाद हम इन शयारियो का सहारा लेते हैं क्योकि इनको पढ के हम अपने दर्द को और महसूस करते हैं और दिल के टूटने का अहसस करते  हैं || इन शायारीयो को पढ़  के आप को दर्द बहुत होगा लेकिन हमरा इरादा आप को दुःख देने का नही हैं बल्कि आप को enter tent करने का हैं|| Bewafa Shayari in Hindi को आप जरुर पढ़े ||

 

Pyar ka Dard Shayari

 

जरूरी नहीं की हर रिश्ता बेवफाई के साथ ही खत्म हो
कुछ रिश्तें किसी की ख़ुशी के लिए भी तोड़ने पड़ते हैं

 

ख़ुशी के आंसू रुकने ना देना। गम के आंसू बाहने ना देना।
यह ज़िन्दगी ना जाने काब रुक जायगी।
मागर ये प्यारी सी रेलशनशिप कभी ना देना।

 

वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था,
खुदा जाने वो क्या लिख रहा था,
मोहब्बत में मिली थी नफरत उसे भी शायद,
इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था!!

 

सब कुछ मिला बस खुदाई के सिवा,
ज़िंदगी बहुत पसंद आई रुसवाई के सिवा,
मेरी चाहत का एहसास भी न होगा,
उसकी हर अदा पसंद आई बेवफ़ाई के सिवा!!

 

बिन उस की ज़िंदगी दर्द-ए-तन्हाई है,
मेरी आँखों में क्यू मौत सिमट आई है,
कहते हैं लोग इश्क़ को इबादत यारो,
इबादत में फिर क्यू इतनी रुसवाई है!!

 

क्या पता था प्यार करके दिल तोड़ जायेगी,
दिल मे प्यार भर के मुँह मोड़ जाएगी,
ऐ बेवफा,
तू जिससे भी दिल लगाएगी देखना,
कभी चैन की सांस ना ले पाएगी!!

 

दिल से रोए मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे,
यूँही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे,
वो हमे एक लम्हा ना दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिए अपनी ज़िंदगी गवां बैठे!!

 

हक़ीकत जान लो जुड़ा होने से पहले,
मेरी सुन लो अपनी सुनने से पहले,
ये सोच लेना भूलने से पहले,
बहुत रोई हैं ये आँखें मुस्कुराने से पहले!!

 

फ़ुर्सत किसे है जख्मो को सहलाने की,
निगाहें बदल गयी हैं अपने बेगानो की,
हमसफ़र ही साथ छोड़ गया मेरा,
अब तमन्ना ना रही आशियाँ बनाने की,
राख हो गया चमन अरमानो का,
नामों निशा ना बचा मेरे अफ़साने का,
बर्बादी पर रंजो गम कैसे यारो,
हशर यही तो होता है दीवानो का!!

 

अंजाने में हम अपना दिल गवां बैठे,
इस प्यार मे कैसा धोखा कर बैठे,
उनसे क्या गिला करे… भूल हमारी थी,
जो बिना दिलवालों से दिल लगा बैठे!

 

ये Bewafa Shayari Sad को पढ़ के आपकी आँखों आशु  जरुर आ  जायेंगे || ये  शायरी को अपने boyfriend/ girlfriend को जरुर भेज और उसके बाद देखे इन शायरीयो का कमाल और अगर आप ऐसी ही latest शायरिया  चाहते हैं  तो आप हमारे इस site को जरुर बुक मार्क  ले|| हम आप के लिए ऐसी ही बहुत ही शायरिया ले कर आते रहेंगे ||

 

नहीं चाहिए कुछ भी तेरी इश्क़ कि दूकान से,
हर चीज में मिलावट है बेवफाई कि……!!!

 

ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है,
जहाँ कल मैं था आज कोई और है।

 

जो कहते थे हमसे हैं तेरे सनम,
वो दगा दे गए देखते देखते।

 

देते मोहब्बत का इनाम क्या,
वो सजा दे गए देखते देखते।
सोचता हूँ कि वो कितने मासूम थे,
जो बेवफा हो गए देखते देखते।

 

न रहा कर उदास ऐ दिल
किसी बेवफा की याद में,
वो खुश है अपनी दुनिया में
तेरा सबकुछ उजाड़ के।

 

वो कह कर गई थी कि लौटकर आऊँगी,
मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,
वो झूठ भी बोल रही थी बड़े सलीके से,
मैं एतबार ना करता तो क्या क्या करता।

 

दर्द ही सही मेरे इश्क़ का इनाम तो आया,
खाली ही सही होठों तक जाम तो आया,
मैं हूँ बेवफा सबको बताया उसने,
यूँ ही सही चलो उसके लबों पर मेरा नाम तो आया ..

 

प्यार करने का हुनर हमें नहीं आता,
इसलिए प्यार की बाज़ी हम हार गए,
हमारी ज़िन्दगी से उन्हें बहुत प्यार था,
सायद इसलिए हमे ज़िंदा ही मार गए!

 

वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी,
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी,
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना,
वो नादान है यारो.. अपना हाथ जला लेगी।

 

Related Shayari:-

 

Latest Shayari पाने के लिए हमारे Facebook page को like करे. अगर आपको Bewafa Shayari in hindi|| Bewafa Shayari in hindi || Bewafa Shayari in hindi status || Bewafa Shayari in hindi 2021 || Latest Bewafa Shayari in hindi  पसंद आये तो इसे अपनी प्रियजनों को शेयर करे. और हमें comment box में comment करे

About the author

admin

Leave a Comment